सोमवार, 16 अगस्त 2010

ब्‍लागवाणी की वापसी की जॉच रिपोर्ट पूरी

जूनियर ब्‍लागर एसोशिएशन ने 1 माह पूर्व यह घोषणा की थी कि वह ब्‍लागवाणी को लाने के लिये कटिबद्ध है। इसके लिये प्रमेन्‍द्र प्रताप सिंह और निशान्‍त त्रिपाठी की दो सदस्‍यीय कमेटी बनायी गई जो ब्‍लागवाणी के गायब होने के कारणो के जॉच करने और उनकी वापसी की सम्‍भावनाओ को तलाश करेगे। इसी प्रयोजनार्थ 17 और 21 को जुलाई को प्रमेन्‍द्र प्रताप सिंह ने दिल्‍ली मे रहे किन्‍तु ब्‍लागवाणी के संरक्षक को पौत्र रत्न की प्राप्ति हुआ और इस कारण हेतु पूरा परिवार मुम्‍बई मे होने कारण मुलाकात न हो पायी। जूनियर ब्‍लागर एसोशिएशन ब्‍लागवाणी परिवार मे नये सदस्‍य के आगमन की बहुत बहुत बधाई देता और पौत्र के उज्‍जवल भविष्‍य की कामना करता है।

जूनियर ब्‍लागर एसोसिएशन ने अपनी इस मु‍हीम मे ब्‍लागरों को भी शामिल करने की योजना बनायी इसी कड़ी मे 08 अगस्‍त से 11 अगस्‍त के बीच मे प्रमुख ब्‍लागरों की व्‍यक्तिगत राय जानने का प्रयास किया गया, आखिर वह क्‍या सोचते है
ब्‍लागवाणी के सम्‍बन्‍ध मे और क्यो वापसी होनी चाहिये ब्‍लागवाणी की? हम15 अगस्‍त तक सभी के ईमेल की प्रतीक्षा कर रहे थे। हमारे पास एड्रेस बुक मे जितने भी ब्‍लागरों के इमेल उपलब्ध थे और हमे लगा कि इनसे सम्पर्क करना उचित होगा, उनमे से करीब 100 से ज्‍यादा सक्रिय ब्‍लागरो से व्‍यक्तिगत तौर पर उनके नाम का सम्‍बोधन करते हुये सम्पर्क किया ताकि वह अपनी राय दे सकें। हमारे द्वारा किसी प्रकार की बल्‍क ईमेलिंग नही की गई ताकि जिससे समझा जाये कि हम सिर्फ खाना पूर्ति कर रहे है। हमे हार्दिक खुशी है कि 100 से ज्‍यादा ब्‍लागरों से व्‍यक्तिगत सम्‍पर्क के बाद भी सिर्फ ढेड़ दर्जन से कुछ ज्यादा ब्‍लागर ही अपनी राय भेज सके और अत्‍यंत खेद भी है कि हिन्‍दी उत्‍थान के नाम पर चिट्ठाकारी करने वाले चिट्ठाकारो ने अपनी कोई जिम्‍मेदारी नही समझी। हम कोई गुट नही है हम आप से ही है अगर आपका सहयोग हमे मिलता तो हम पूरे उत्‍साह के साथ काम करने का बल मिलता किन्‍तु र्दुभाग्‍य की हमे गुट समझ कर हमे इग्‍नोर करने का प्रयास किया गया किन्‍तु इससे हम न कमजोर हुये है न होगे।

सर्वप्रथम जिन ब्‍लागरों के बल पर हिन्‍दी चिट्ठाकरी लेखक और पाठक के रूप टिकी हुई है जिन्‍होने अपने ईमेल से अपनी राय अवगत कराया है उनके नामो की घोषणा करते है और इनको कोटि कोटि धन्‍यवाद देते है। जिन्‍होने हमे पूर्ण सहयोग दिया - अविनाश वाचस्पति जी, अरविन्‍द मिश्र जी, संजीव वर्मा सलिल जी, दिवाकर मणि जी, जी.के. अवधियाजी, गिरीश बिल्‍लोरे जी, शेखर कुमावत जी, (डॉ.) कविता वाचक्नवी जी, रेखा श्रीवास्तव जी, मनोज जी,संगीता पुरी जी, सुमन मीत जी, वंदना गुप्ता जी, रंजना सिंह जी आदि ने अपने विचार हमे भेजे जिससे हमे बल मिला।


ब्‍लागवाणी की वापसी के लिये बनायी गई कमेटी के सदस्‍य अपने व्‍यक्तिगत कामो के बीच इस काम को कर रहे थे इसी मे
प्रमेन्‍द्र प्रताप सिंह अपने अधिवक्‍ता पंजीयन की तैयारी मे थे और उन्‍होने 25 जुलाई को अपने को अधिवक्‍ता के रूप मे पंजीयन करवा लिया, तथा कमेटी के दूसरे सदस्‍य निशान्‍त त्रिपाठी ''नीशू'' अपने समाचार पत्र के मैनेजमेट के कार्यशैली के अजीज़ आकर अपने 5 सहयोगी के साथ 12/13 अगस्‍त को त्‍यागपत्र दे दिया, इस्‍तीफा देने वाले मे प्रमुख ब्‍लागर मिथलेश दूबे भी शामिल है। अन्‍याय की लडाई मे जूनियर ब्‍लागर एसोशिएशन इन दोनो ब्‍लागरो के साथ है, जूनियर ब्‍लागर एसोशिएशन का मूल मंत्र है ही कि न अन्‍याय करेगे न सहेगे चाहे वह चिट्ठकारी या पत्रकारिता ही क्‍यो न हो। इन दोनो कामो के कारण इस काम मे विलम्‍ब जरूर हो रहा है किन्‍तु हमारा काम रूका नही है। ब्‍लागवाणी परिवार के मुखिया से हमारी टेलिफोनिक बातें हुई और हमे आश्‍वासन भी मिला कि हम इस सम्‍बन्‍ध मे शीघ्र ही कोई निर्णय लेगे।

जूनियर ब्‍लागर एसोशिएशन की यह कमेन्‍टी दिनाँक 22 अगस्‍त तक अपनी रिपोर्ट प्रस्‍तुत करने की कोशिश करेगे,कारणो की भी बातो को रखा जायेगा तथा जिन ब्‍लागरों ने अपने विचार प्रस्‍तुत किये है उन्‍हे भी शामिल किया जाये।

8 टिप्‍पणियां:

  1. गुप्ता परिवार को इस आह्लाद भरे माहौल में मेरी भी खुशी और बढ़ाई का तोहफा ,नीशू और साथियों द्वारा इस्तीफे की खबर से तनिक क्षोभ तो हुआ मगर कोई बात नहीं ..आप लोगों के पास अवसरों की कमी नहीं है ..प्रयास जारी रखें ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपके प्रयास सफ़ल हों यही शुभकामना है…। आपने कोशिश की शुरुआत तो अच्छी की है… जब आप जैसे सक्रिय और ऊर्जावान युवा इसके लिये प्रयास करेंगे… ब्लॉगवाणी अधिक दिन रूठी नहीं रहेगी…।

    उत्तर देंहटाएं
  3. कृपया लिखते रहें व् मार्गदर्शन करते रहें

    उत्तर देंहटाएं
  4. प्रयास सफ़ल हों.
    शुभकामना.
    गुप्ता परिवार को पौत्ररत्न की बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपके प्रयास सफल हों ,हमारी शुभकामनायें आपके साथ हैं।
    रही अपने विचार प्रकट करने की तो हम काफी दिन वलागिंंग से दूर रहे जिसके परिणामस्वारूप सम्पर्क न हो सका।
    हमार मानना है कि जो लोग अपनी संकुचित विचारों वाली पोस्ट ब्लागरों द्वारा reject पोस्ट हिट न होने पर छाती पीट रहे थे उन लोगों ने जरूर कोई षडयन्त्र किया होगा अपने आतंकवादी साथियों के साथ मिलकर।
    एकवार फिर आपके लिए शुभकामनायें । आपकी सफलता हमारी सफलता है । हम वेशब्री से आपकी ब्लागवाणी का इन्तजार कर रहे हैं। पिछले दिनों हम मुम्बई में थे अगर आपसे सम्पर्क हुआ होता तो जरूर हम वलागवाणी वालों से वयक्तिगत रूप से मिलकर अपनी बात रखते।

    उत्तर देंहटाएं
  6. उपर जिन ब्‍लॉगरों का उल्‍लेख किया गया है। उनसे प्राप्‍त विचारों से भी अविकल अवगत करवाया जाये।

    उत्तर देंहटाएं
  7. lalaa 1 maheenaa to pooro ho gayo. blogvani kyo shuru nai ho rahiyai. kachhu pato karo bhaai.

    उत्तर देंहटाएं
  8. ब्लागवाणी आ भी जाओ....
    ____________________
    नन्हीं 'पाखी की दुनिया' में भी आयें.

    उत्तर देंहटाएं